बारी बारी कॉलेज के दो लड़कों से चुदाई

कैसे हो दोस्तों मैं रेखा आज आपको मेरे कॉलेज के दो लड़के के साथ मेरे जिस्मानी समभंद यानी कॉलेज सेक्स स्टोरी की कहानी सुनाने जा रही हूँ!

दोस्तों मेरे कॉलेज में संजय और विकास नाम के दो लड़के पढ़ते थे! अभी कुछ महीने हुआ हैं और मेरा इन दोनों से रिलेशन चल रहा हैं!

रिलेशन ऐसा की वो दोनों मुझे पागल बनाने की कोशिश कर रहे हैं की प्यार करते हैं जबकि दोनों को मेरे साथ सेक्स करना हैं!

पहले विकास ने मुझे ऑफर मारा था मैंने सोचा कॉलेज टाइम हैं बॉयफ्रेंड तो होना चाहिए तो मैंने उसे हां बोल दिया!

उसके अगले दिन ही उसने मुझे बातो में फसाकर मुझसे न्यूड्स मांग ली और मैंने पता नहीं दे भी दी!

अगले दिन विकास ने शायद संजय को सब बता दिया होगा क्युकी ये दोनों जिगरी थे!

तभी उसी रात संजय का काल आया और उसने मुझे बातो में ऐसे फसाया और आखिर में मुझे साफ़ बोला की उसको मेरे साथ सेक्स करना हैं!

मैंने सेक्स के लिए मना कर दिया पर न्यूड्स के लिए नहीं तो मैंने उसे नंगी फोटो भेज दी!

दोस्तों ये पहली बार नहीं था मैं रेलशन में आयी हु मैंने बहुत लोगो से बात की हैं और मैं समज जाती कोन कैसा हैं!

ये दोनों लड़के चाहे सिर्फ सेक्स के लिए आये हो पर मुझे बहुत पसंद थे और ये एक दूसरे के सिवा किसी को बताने वाले भी नहीं थे!

तो मैं चाह कर भी इन्हे मना नहीं कर पाती थी जब ये नंगी फोटो या वीडियो कॉल के लिए बोलते थे!

संजय बहुत जिद्दी था वीडियो कॉल में बार बार बोलता चूत दिखाओ गांड दिखाओ या अपने निप्पल रगड़ो!

अगर मैं मना करती तो बुरा मान जाता था तो मैं मना नहीं करती थी!

विकास मुझे बोलता संजय को मत बताना हमारे बारे में और संजय भी यही बोलता विकास को मत बताना!

पर दोनों हरामी थे दोनों सब बाते बताते थे एक दूसरे को एक दिन तो संजय पकड़ा भी गया था बातो में!

मैंने विकास को वीडियो कॉल करि उसने मेरी नई ब्रा देखि लाल रंग की उसके बाद रात में संजय ने बोला ब्रा दिखने को मैंने मना किया!

गुस्से में उसने बोल दिया की मुझे तुम्हारी नयी लाल ब्रा देखनी हैं! मैंने पूछा कैसे पता तुम्हे तो हसने लगा कहता तुक्का मारा था!

एक दिन इन्होने मुझे रूम पर बुलाया मुझे विकास का पता था की वो चुदाई के लिए बुला रहा हैं पर संजय का नहीं पता था की क्या करेगा!

हम रूम पर बैठे संजय का कॉल आ गया था तो वो बहार गली में टहल रहा था!

इतने में विकास ने मुझे कहा सुनो जान मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और मुझे चूमने लगा होंठो पर!

मैं उसे पसंद करती थी इसलिए मजे आ रहे थे चूमने में उसके होंठ!

उसने संजय का बहार जाने का फायदा उठाया और बातो मे ऐसे फसाया की बेबी पहली दफा हम अकेले है इससे बढ़िया मौका नहीं मिलेगा!

उसने मुझे बहला फुसला कर मना लिया और मेरे कपड़े खोलने लगा मुझे डर था संजय ना आ जाएं!

अगर वो आ गया तो क्या सोचेगा और या फिर वो भी चुदाई मांगे पर संजय आया नहीं और विकास मुझे लंड चूसने के लिए मना रहा था!

वो मान नहीं रहा था उसने अपना लंड निकला और थोड़ा रुड तरीके से मुझसे पेशा रहा था उसने मेरा मुँह लंड पर लगवाया और मुझे चुसाने लगा!

मैंने सोचा यार जब चूस रही हूँ तो इतना क्या सोचना वैसा भी मुझे वो पसंद हैं और मैंने जमकर उसका लंड चूसा और उसे पुरे मजे दिए!

उसने मुझे नंगा किया और मेरी चूत मारने लगा और करीब 20 मिनट तक मेरी चुदाई अच्छे से करदी!

जब मैं कपड़े पहन कर बहार गयी मुँह हाथ धोने तो संजय अंदर आ रहा था!

उसने मेरी आँखों में देखा और वो समज गया मैं चुद कर आ रही हूँ अंदर से!

मुझे संजय के लिए बुरा लगा की यार वो मुझे पसंद करता हैं और उसको सब पता लग गया!

उसने बस मेरे गाल पर किस किया और चुप चाप खाना खाया और सो गया!

विकास ने मस्त चुदाई करली खाना खाया और सो गया था! पर संजय लेटा हुआ था उसे नींद नहीं आ रही थी मुझे पता था वो मेरे बारे में सोच रहा होगा!

विकास सोया हुआ था तो मैं संजय के साथ उसके बेड पर सो गयी!

उसने मेरी तरफ पीठ करदी मैंने उसकी गर्दन चूमि उसने मना किया मैं चूमती रही वो फिर मान गया!

मैंने उसके कच्छे में हाथ डाला उसका मोटा लंड थोड़ी देर सहलाया और उसका मूड बन गया!

वो मेरी तरफ मुड़ा और मेरे होंठ चूमने लगा मजा आ गया आज तो दूसरी चुदाई होने जा रही थी!

उसने मेरे कपडे निचे सरकाये और धीरे से लंड चूत में डाला और धीरे धीरे चुदने लगा!

मुझे बड़े मजे आ रहे थे वो मेरे बूब्स चूस रहा था और निप्पल पर काट रहा था! वो धीरे से चुदाई कर रहा था ताकि विकास न उठे!

करीब आधे घंटे धीरे से चुदाई करी और सारा माल कंडोम में निकाल दिया उसने!

फिर मैं जल्दी से कपड़े पहन कर सो गयी और सुबह तक संजय के साथ चिपक कर सोई रही!

तो दोस्तों ये थी मेरी चुदाई की कहानी उम्मीद हैं लॉकडाउन में आपको मुठ मरने के लिए ये मदद देगी!

Leave a Comment